Malai cake

Quickest and easiest cake ever

Ingredients

  • 1/2 cup powder sugar
  • 1/2 cup malai
  • 1/2 cup Milk powder 
  • 1 cup plain flour or maida

Three major ingredients maida , malai, milk powder.

  • 1 tea spoon baking powder
  • 1/2 tea spoon baking soda
  • 2-4 drops of essence you need
  • Water as needed
  • You can add food color as per your need

Steps

  • Pre heat your oven or microwave. And grease your baking dish with oil or ghee and apply plain flour over it.
  • Now Sieve all the dry ingredients {milk powder, maida, baking powder,baking soda} and keep them aside.
  • Now take a bowl and mix sugar and malai then add dry ingredients part by part
  • Add water as required to make the batter lump free… 
  • Add drops of essence {vanilla,pineapple, rose etc} and also add food color if needed.
  • Combine well and make batter of pouring consistency.

Your cake is ready to pe placed in baking tin, pour it and keep inside your oven for 35-40 mins or until the toothpick comes out to be clean…

If don’t have oven try this baking skills

Tips for making soft malai cake

 don’t add milk here because we are using milk powder so add water. Combination of this two will give essence of milk.

For adding food color first mix it with water and then use it.

Your malai can be 5-7 days old..make sure it should not stink.

Always remember the amount of milk powder, sugar and malai is same and plain flour is double.

Take out your cake and cool it for hour then go for icing or you can have it directly…

Enjoy your eggless Malai cake

Do try this.. and let me know your experience in the comments section below…

Thanks & Regards

Virus_miki

Advertisements

जी ले ज़रा …

माना की तुम उदास हो

जीवन से अपने हताश हो

ख़ुशी का एक प्रयास तो करो

क्यों तुम इस कदर निराश हो

ये जीवन तुम्हारे द्वारा रचा हुआ है
मन इसमें तुम्हारा हर पल रमा हुआ है

गुनगुना लो इस पल में तुम

यहाँ पर घर तुम्हारा ही बसा हुआ है

तुम्हारी निराशा से परिवार को तकलीफ है
तुम्हारा खुद को नुक्सान पहुचना अनुचित है

जी लो इस पल को तुम पूर्ण रूप से

ये तो वीधि का विधान है जो पूर्व रचित है |

Keep smiling and spreading love…. No matter what.. because… “** जो होता है अच्छे के लिए ही होता है ।**”

                     ~virus_miki

है अंधेरी रात पर दीपक जलाना कब मना है by Harivansh Rai Bacchan 

https://youtu.be/V0DmHYy-3XE

कल्पना के हाथ से कमनीय जो मंदिर बना था
भावना के हाथ ने जिसमें वितानों को तना था।

स्वप्न ने अपने करों से था जिसे रुचि से सँवारा
स्वर्ग के दुष्प्राप्य रंगों से, रसों से जो सना था
ढह गया वह तो जुटाकर ईंट, पत्थर, कंकड़ों को
एक अपनी शांति की कुटिया बनाना कब मना है
है अँधेरी रात पर दीवा जलाना कब मना है।

बादलों के अश्रु से धोया गया नभ-नील नीलम
का बनाया था गया मधुपात्र मनमोहक, मनोरम
प्रथम ऊषा की किरण की लालिमा-सी लाल मदिरा
थी उसी में चमचमाती नव घनों में चंचला सम
वह अगर टूटा मिलाकर हाथ की दोनों हथेली
एक निर्मल स्रोत से तृष्णा बुझाना कब मना है
है अँधेरी रात पर दीवा जलाना कब मना है।

क्या घड़ी थी, एक भी चिंता नहीं थी पास आई
कालिमा तो दूर, छाया भी पलक पर थी न छाई
आँख से मस्ती झपकती, बात से मस्ती टपकती
थी हँसी ऐसी जिसे सुन बादलों ने शर्म खाई
वह गई तो ले गई उल्लास के आधार, माना
पर अथिरता पर समय की मुसकराना कब मना है
है अँधेरी रात पर दीवा जलाना कब मना है।

हाय, वे उन्माद के झोंके कि जिनमें राग जागा
वैभवों से फेर आँखें गान का वरदान माँगा
एक अंतर से ध्वनित हों दूसरे में जो निरंतर
भर दिया अंबर-अवनि को मत्तता के गीत गा-गा
अंत उनका हो गया तो मन बहलने के लिए ही
ले अधूरी पंक्ति कोई गुनगुनाना कब मना है
है अँधेरी रात पर दीवा जलाना कब मना है।

हाय, वे साथी कि चुंबक लौह-से जो पास आए
पास क्या आए, हृदय के बीच ही गोया समाए
दिन कटे ऐसे कि कोई तार वीणा के मिलाकर
एक मीठा और प्यारा ज़िन्दगी का गीत गाए
वे गए तो सोचकर यह लौटने वाले नहीं वे
खोज मन का मीत कोई लौ लगाना कब मना है
है अँधेरी रात पर दीवा जलाना कब मना है।

क्या हवाएँ थीं कि उजड़ा प्यार का वह आशियाना
कुछ न आया काम तेरा शोर करना, गुल मचाना
नाश की उन शक्तियों के साथ चलता ज़ोर किसका
किंतु ऐ निर्माण के प्रतिनिधि, तुझे होगा बताना
जो बसे हैं वे उजड़ते हैं प्रकृति के जड़ नियम से
पर किसी उजड़े हुए को फिर बसाना कब मना है
है अँधेरी रात पर दीवा जलाना कब मना है।

Happy reading people

If you got the positivity that bachhan ji wanted to convey…You just gave tribute to him💕

If your hope never dies…you will never find yourself at the worst phase of life,you will only find yourself at little less than good,that’s it and that is not that big deal,you can manage it.

Yours loving warrior 

Naina

तेरी आँखों से डर लगता है

तेरी आँखों से डर लगता है

दिल के राज़ पढ़ लेती हैं 

तेरी डरावनी आँखे क्योकि😉😆

इसलिए तेरी आँखो डर लगता है

जैसे भी हैं हम दोनों 

लड़ते हैं झगड़ते हैं

पर दिल से साथ भी एक दूसरे के 

हरदम रहते हैं

इसलिए हम दोनो 

माने या न माने 

हमारा रिश्ता गहरा लगता है

पिछले जन्म का ज़रूर कोई अपना 

रिश्ता नाता लगता है

Just be the same… always available for me and I am also there forever for you and that’s a promise dear brother.

We are similar at many aspects, the gravity we both hold is some what same…We both believe in doing things rather than explaining in words and hence no surprise why  we have a common bestie who can bare us for this behaviour….Anju😘🤠.

There are more things and things… if I write won’t end…Let me keep those for your future bdays 😅

Happy bday again bro.

Stay blessed!

Signing off for today 

Happy reading readers 

Yours loving warrior

Naina

And it worked😎💕👇

खोज

खोज की सोच नहीं होती बस चाहत होती है

दरवाज़ा खुला हो या बंद हो,चाह हो समझने की

तो दरवाजे के पास आहट ज़रूर होती है

खाली मत महसूस कर, ये खोज के रोज़ हैं

बीत न जाये,खोज के बिना,नहीं तो बस अफसोस है

खोज की चाह खुद की सबसे बड़ी दोस्त है

खुद से बातें कर लेती है

चाह हो तो खोज ज़रूर होती है ।

Stay curious,Stay alive !

Keep discovering new things…✌💓

Happy reading 

Yours loving warrior

Naina

Smartness

‘Smarteness’ is choosing to react properly to the world everytime😇 

Clearly, smartness is also  choice and not necessarily something God gifted to some special people. Anyone who wants to can choose and be smart.

P e r f e c t 

P r e s e n t a t i o n

E v e r y t i m e

I n 

E v e r y

S i t u a t i o n

G o o d

O r

B a d

That’s it and it is truely humanly possible  and therefore smart people exist in our world and if you still think I am saying something too ideal, just turn around and keenly observe all the smarties you know.

Happy reading !

Yours loving warrior

Naina

मज़बूरी

ख्वाइशें अधूरी हैं,क्योंकि मज़बुरी है

मजबूरियां तुम्हारी,हमको सारी,

सारी की सारी समझ आ गई 

पर क्या तुम्हें हमारी 

तुमको आसानी से समझ जाने की ये आदत

 पसंद आ गयी ? (@^^)/~~~

Happy reading !

This is the commonest scenario I have “observed” between many couples and infact also in other relationships also…where demands when go unanswered because of some “मजबूरी”..Other partner’s duty is to keep understanding and not complaining….

This one is dedicated to that part of all relations I have come across.

समझ आ जाये अगर तो मज़बूरियां कहाँ दर्द देती हैं

देखा जाए तो हर रिश्ते को ये तो और मज़बूत कर देती हैं 💕

Happy reading!

Keep spreading love

Yours loving warrior

Naina

Free lunch is a myth !

“Free lunch” we often hear this term but free lunchs are myth,they don’t exist in reality but thing is that…should they even exist? Can you digest if someone gets something for free?

Somewhere your heart will say “No” and “Yes” both. Well in that mayhem what my heart speaks is this that….

It’s all give and take going on together everywhere and neither ‘give’ nor ‘take’ can exist alone. Truth is even trust comes with price of “expectation” and even this life has been given to you with certain reason. Ironically Nothing is free and nothing ‘should’ be free also ideally.

Happy reading

Yours loving warrior

Naina