मेेरे रिश्ते और दोस्ती 


मेरा उनसे रिस्ता ऐसा है 

जो तकरार के अंतिम के सीमा को लाँघकर कर भी

उनकी मुस्कुराहट पे पहले जैसा हो जाता है

Rancho

Wow😍

Aise rishte hardam banaye rakhiye👌

Stay blessed Rancho!

Happy reading readers

Yours loving warrior

Naina

Advertisements

तेरी याद में 

तू जो यादो में भी आ जाए तो हजरों का साथ कर दे 

गम के गलियारों  में यादे ही यादे कर दे

जो तेरी याद आये तो हजारों में भी अकेला कर दे

~Rancho

Yaade akela karein ya saath ka ehsaas dilayyee…

Agar khusi de to hi yaado ko rakhna achaa hai nahin to aage badh ke nayi yaade banana acha hai

❤❤ Beautiful lines Rancho! Bilkul beautiful like aapki yaadien

Keep scribbling

Happy reading readers

Yours loving warrior 

Naina

कान्हा की दोस्ती 

कान्हा बचपन मे सुदाम से हर रोज मिलने जाते थे 

पर जब सुदामा को सुदामा के जीवन मे जब कान्हा की 

जरूरत थी तो सुदामा को कान्हा के पास जाना पड़ा 

तो क्या कान्हा और सुदामा के बीच दूरी हुई

नही बिल्कुल नही 

 दोस्ती नही  वक़्त बदला 

कान्हा बचपन मे यमुना किनारे निर्मल जल के पास रहते थे 

बड़े होने पे वो खारे पानी के बीच रहते थे 

सुदामा खारे पानी और सादे पानी के अंतर को जानते थे 

इसलिए कान्हा से सच्ची दोस्ती थी

पर मेरा दोस्त वक्त के सादे पानी और खारे पानी 

के बातो की गहराई को न समझ पाता है

उसे  वफ़ा ,खफा और बेवफा से जोड़ जाता है 

और वक्त ही उसे समझता है और सिखाता है

अब आप ही बताइये सादे पानी और खारे पानी की बातों में कितनी गहरी है |

~Rancho

Apki baato mein utni hi gehrai hai jitni sudama aur kanha ki dosti mein thi.

Waqt ne hi dono ko alag kiya

Waqt ne hi dono ko mila diya

Shayad sahi kaha apne dosto mein waqt ko samjhna chahiye

dosti apne aap samajh bhi aa jayegi aur samhal bhi jayegi.

par ye karna nahin assan hai 

Wafa aur bewafa dono hi waqt ki pehchaan hai

Dosti mein antar to aa jate hain

waqt do agar ek dusre ko 

to bhula bhi jaate hain !

par na de sako waqt agar to bura na mannana dosti mein kahi baato ka

dosti mauhtaj nahin hai waado ka

pyaar mein wade hote hain

dosti mein bina wado ke bhi nek irade hote hain

Shayad aaj tak ka sabse jyada pechida post hai apne blog ka ye Rancho!

par likh k aapne ye hume sochne pe majbur kar diya..shayad readers ko bhi kar de

Happy reading everyone

Yours loving warrior 

Naina

जुबान की कीमत – 1

बच्चे को बोलना सीखने में 2 साल लगता है

पर क्या बोलना है ये सीखने पूरी उम्र बीत जाती है 

बोलना आसान है क्या बोलना है ये सीखना मुश्किल है 

~Rancho

Bolne se pehle bol ko tolo

tabhi apna mu kholo

itni aasan si ye baat hai

par samajh na sako to muskurao

par galat na kao tum kabhi

Sikh jaoge agar ye

to nahi pachtaoge kabhi

Keep speaking your heart but at the same time judge what you are speaking!

Words once uttered cannot be taken back , we all know this but we fail to apply.

Thanks Rancho for this reminder!

Happy reading readers

Yours loving warrior

Naina

उसने मुझे जीना सिखया 

उसने मुझे जीना सीखाया दर्द भुलाकर बढ़ना सिखाया

कीचड़ में सना था मैं हाथ देकर उसने निकाला और  हाथ मे क़लम  पकड़ना सिखाया

मेरी आँखों मे थे अंगारे और उसे खूब चिल्लाया 

साफ न किये मेरे कीचड़ और मेरे हाथ मे कलम  थमाया

उसकी आँखों मे थे आँसू और होटो पे मुस्कुराहट 

फिर बी मेरी समझ न आया कि उसने क्यों कलम थमाया

जब लिखा तो समझ आया मन के अंदर के कीचड़ का कलम ने किया सफाया

अब समझ आया तूने क्यों कलम थमाया 
अब जीना आया 

    ~Rancho

    Kalam mein vo jaado hai jo aasun ko kavitao mein badal ke muskurahat aur talliyoon ki gadgadahat mein badal deti hai. Aapki kavita un taliyoo k layak hai rancho👏👏👏.

    yaha sabko aap tough competition denge.

    Keep scribbling Rancho!

    Happy reading readers

    Yours loving warrior

    Naina