Broken Bangles

Sun was over the head in the lukewarm of Month May few days are only left for the summer vacation Krissh came back from the school to home no sooner he in warded inside the house he threw his bag over the sofa and shoes to his left side in fury and sat on the … Continue reading Broken Bangles

यह खयाल अच्छा लगता है

तुझ तक आके रुक जाना फिर तुझे मे उलज जाना ऐसा हर बार करते रहेना दिल को सच्चा लगता है यह खयाल अच्छा लगता है तेरा गोद मे सिर रख कर सो जाना फिर सपनों मे तुझे देख मुसकुराना आंखे जब खोलु तेरा दीदार पाना दिल को सच्चा लगता है यह खयाल अच्छा लगता है … Continue reading यह खयाल अच्छा लगता है

आखिर कर्ज़ क्या है

शाम का वक़्त था आसमान सूरज की लालिमा लिये दिन को खुद मे समेट कर अलविदा कहे रहा था, हुमुस जैसा मौसम था माथे का पसीना गल को छूते हुए गर्दन से गुजरते हुए मेरा शर्ट को भिंगो रहा था। मै अपने घर के छत पर गया हुमस भरी गर्मी से राहत के लिये पर … Continue reading आखिर कर्ज़ क्या है