Merry Christmas❤️

Saw this beautiful message this morning 😘which made my day Happy Reading! Yours loving warrior Naina

कलयुग का जंगल – 1

चींटी को शेर समझ, चलना भी हम शुरू नहीँ कर पाए जंगल बहुत दूर था,बेमतलब आधे रास्ते से हम भागे आये दिखावे के जाल वो शिकारी बुन रहे,जो बंदूख उठाने के भी काबिल नहीँ, सीना चौड़ा वो कर रहे जिनके कंधे , पतझड़ के टूटे पत्तो से कम नहीं, टूटी कंधो से न हो पाता … Continue reading कलयुग का जंगल – 1