क्या भूलूँ क्या याद करु मैं *Kya Bhulu Kya Yaad Karu Mai*

By Harivansh Rai ji Bacchan 💐 Picture : I clicked this...in last diwali season. क्या भूलूँ, क्या याद करूँ मैं! अगणित उन्मादों के क्षण हैं, अगणित अवसादों के क्षण हैं, रजनी की सूनी घड़ियों को किन-किन से आबाद करूँ मैं! क्या भूलूँ, क्या याद करूँ मैं! याद सुखों की आँसू लाती,दुख की, दिल भारी कर … Continue reading क्या भूलूँ क्या याद करु मैं *Kya Bhulu Kya Yaad Karu Mai*