सोच

आज लोगों को ये हुआ क्या है, क्यूँ हो रही है इनकी ऐसी सोच जैसे हों ये किसी चोट से ग्रसित या हो जैसे ये कोई बड़ी मोच...   ये सब स्पष्ट कहने में नहीं मुझे कोई संकोच आज लोगों को हुआ क्या है क्यूँ हो रही है इनकी ये सोच।।   स्वार्थ का रख … Continue reading सोच