कहानी ( माँ )

असम्भव  है  माँ तेरे  किरदार  की  कहानी  लिखना, जैसे  पानी  पे  हो पानी  से  पानी  लिखना।।   आसाँ  है  शक्लो सूरत  से तेरी  तरह  दिखना, पर  असम्भव  है  माँ तेरी  कहानी  लिखना।।   तू  है  माँ  भरपूर  गुणों  से हूँ  मैं  इक  घड़ा  चिकना, असंभव  है  माँ तेरे  किरदार  की  कहानी  लिखना...