शतरंज

शतरंज सी ज़िन्दगी में कौन किसका मोहरा है, आदमी तो एक है मगर किरदार सबका दोहरा है...

8 नवम्बर

यूँ तो नवम्बर 8 होता है जन्मदिन आडवाणी साहब का पर इस तथा कथित चौकीदार ने मान सम्मान सब छीन लिया आडवाणी साहब का।।   इतने पाक ख़ास दिन को कर दिया पूरा काला छीन तो लिया सब मान उनका और छीन लिया निवाला ।। कि इतने पाक जन्म वाले दिन को कर दिया क्यूँ … Continue reading 8 नवम्बर

तुम बिन

तुम बिन क्या करें कैसे जियें तुम बिन अब तो गुज़रती नहीं रात मुश्क़िल से गुज़रते हैं अब दिन तुम बिन क्या करें कैसे जियें तुम बिन

दो साल (नोटबंदी के)

लो जनाब, अब तो हो चले नोटबंदी को पूरे दो साल हो गया देश और अर्थव्यवस्था का बुरे से भी बुरा हाल।।   ये हम नहीं कहते कहे हैं समाचार सारे अब कहे हैं 'उर्जित' भी अब भरी ऊर्जा से बजा के घन्टे, ठोक के ताल ।।   # एक ही झटके में जैसे मुर्गे … Continue reading दो साल (नोटबंदी के)