दानव 

नवंबर आठ को  इक दानव*  आया  शुरु शुरु में खूब डराया बड़े बड़ोंं को थोड़ा सताया छोटों को तो वो मार के खाया.. वाह री कुदरत तेरी कैसी माया क्या तुझे ज़रा भी मर्म न आया  जो थोड़ा बहुत था बचा बचाया  तूने तो वो सब निकलवाया..  बड़ी मुुुश्कि्ल से था कुुुछ ख्वाब सजाया हर … Continue reading दानव 

G S T  

 जी 0 ऐस 0 टी 0  :  एक लघुकथा मगरमच्छो को पकड़ने   के लिए तालाब से सारा पानी निकाल दिया। परंतु कोई मगरमच्छ नहीं मिला क्योंकि मगरमच्छ उभयचर  है वो पृथ्वी पर भी रह सकता है। परंतु पानी के अभाव में सभी  छोटी मछलियां मर गईं...!!!