पापा की हर बात पे बस इसीलिए हम दोनो जान देते हैं


Picture creativity: Vaishnavi zhanwar

रेशमी पंख देते हैं,नीला आज़ादी वाला आसमान देते हैं,हम फिर भी जब उड़ नहीं पाते तो हमारे कोमल पंखों को पापा हौसलों की ताकत वाला विमान देते हैं

उड़ान फिर भी धोका दे देती है कभी,तो धोको से, तेज़ हावा के झोको से भी लड़ सके और फिर से खुद उठ सके,पापा हमें ऐसा स्वाभिमान देते हैं

जीना तो हम भूलते ही नहीं कभी,क्योंकि पापा हर हाल में जीने का हमें अरमान देते हैं,

कभी भी कोई बात थोपते नहीं हम पर, समझा कर सहीं ग़लत की पहचान देते हैं,पापा की हर बात पर बस इसीलिए नैना नेहा जान देते हैं,

बेस्ट फ्रेंड की तरह रहते हमारे साथ इसीलिए डर से सलाम नहीं,पापा को नैना नेहा दिल से सम्मान देते हैं 

पापा ही हैं जो हमें पंख और आसमान देते हैं,पापा की हर बात पर बस इसीलिए नैना नेहा मान लेते हैं,

अब रिश्ता ही कुछ ऐसा है पापा पे नैना नेहा और नैना नेहा पे पापा अपनी जान देते हैं

​To our friendliest father
and will power of our life

Happy Father’s day 💕

From your warrior daughters

Naina Neha

Happy reading readers

Yours loving warrior

Naina

Advertisements

6 thoughts on “पापा की हर बात पे बस इसीलिए हम दोनो जान देते हैं

  1. Very nice lines

    The best part I think is
    डर से सलाम नहीं,
    दिल से सम्मान……!!!

    And another thing jo sbhi Ko achhi lgegi, wo ye ki yahan kisi ek ka nhi Balki do persons, ya do sisters ka sath sath zikar h…. Ye achha h

    Very nice writing 👌👌👌
    👍👍👍👍

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s