On 1 year completion of www.warriornaina.com

Congrats to all the scribbliers and readers!👍😊👏👏👏👏👏👏👏👏(^^♪ Everything to you guys. सूरज जैसे प्रकाश से खेलते नहीं अभी चाँद जैसे शीतलता भी बिखेरते नहीं अभी क्योंकि सितारों की तरह जगमगाना अभी बस शुरू ही किया है(^o^)/ साथी तारों के संग रोशनी पिरोना  अभी बस शुरू ही किया है(^o^)/ पर वक़्त पर फिर भी गुरूर है … Continue reading On 1 year completion of www.warriornaina.com

उलझने 

कुछ दबी हुई ख़्वाहिशें है, कुछ मंद मुस्कुराहटें. कुछ खोए हुए सपने है, कुछ अनसुनी आहटें. कुछ दर्द भरे लम्हे है, कुछ सुकून भरे लम्हात. कुछ थमें हुए तूफ़ाँ हैं, कुछ मद्धम सी बरसात. कुछ अनकहे अल्फ़ाज़ हैं, कुछ नासमझ इशारे. कुछ ऐसे मंझधार हैं, जिनके मिलते नहीं किनारे. कुछ उलझनें है राहों में, कुछ … Continue reading उलझने