Reflector

Our eye acts as the natural camera, It is the marvellous gift created by the begetter, It captures the real moments of verve in one piece, Without any gadget we can foretaste the times of yore, It acts as the mirror of the past life, Sometimes the events it captures,  Becomes the life or the … Continue reading Reflector

Good Night ~ 1

आधे थे हम,अकेले में काली रात से घबरा बैठे फिर पता चला जिससे घबरा रहे थे, उसे भी पूर्णिमा का इंतज़ार था पूरा होने का हमारी ही तरह रात को भी इंतज़ार था फिर क्या हम आपस में ही नज़रें मिला बैठे काली रात को भी गले से लगा बैठे Happy reading Yours loving warrior … Continue reading Good Night ~ 1