यह खयाल अच्छा लगता है



तुझ तक आके रुक जाना
फिर तुझे मे उलज जाना
ऐसा हर बार करते रहेना
दिल को सच्चा लगता है
यह खयाल अच्छा लगता है

तेरा गोद मे सिर रख कर सो जाना
फिर सपनों मे तुझे देख मुसकुराना
आंखे जब खोलु तेरा दीदार पाना
दिल को सच्चा लगता है
यह खयाल अच्छा लगता है

ज़िद कर के तुझे देखना
अपने सवाल तुझसे पूछना
तेरे जवाब सुननाना अच्छा लगता है
तुझसे गले मिल जाना
दिल को अच्छा लगता है
यह खयाल अच्छा लगता है

तेरी रहे ताकना
तेरा साथ फिर उन रहो मे भटकना
मंज़िल तक जाना तेरा हाथ थामे
दिल को सच्चा लगता है
यह खयाल अच्छा लगता है

~Mr.Passionate
(केोस्तुभ)

Aapki kavita padh ke hamein bhi khayal acha laga kaustub.

Wonderful are the imaginations with our Mr/Miss Someone special.

Wish all of the souls meet their other halfs soon.

Happy reading readers

Keep scribbling Mr. Passionate

Yours loving warrior

Naina

Advertisements

One thought on “यह खयाल अच्छा लगता है

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s