वक़्त से दौड़।

हर कोई दौड़ रहा है । पहले आने की होड़ कर रहा है कहाँ जाना है ये उसे भी नहीं पता बस वक़्त से आगे भाग रहा है । कोई दौलत बटोर रहा है  कोई शोहरत सहेज रहा है आगे आने की होड़ में...  ना जाने कितनों को कुचल रहा है ना खुद का होश … Continue reading वक़्त से दौड़।