Sometimes I feel this diamond is mine

I sometimes Feel disheartened  by your rudness And sometimes Your same  polished(smart) toughness  make me smile I sometimes Feel disheartened by  your having infinite secretive faces And sometimes your same multiple sides  Takes my heart I  sometimes feel stupid  to be so attracted to sparks your nature has Sometimes your same shine  Makes me feel fine … Continue reading Sometimes I feel this diamond is mine

शहर है मेरा भी 

मैं बूझते उजाले की लौ बन बैठूँगा मैं तेरी वादियों की तनहैयाँ दूर तक समेटूँगा।  कल गर क़ाबिल हुआ तो ही वापिस लौटूँगा तेरा ज़र्रा समेटे जिंदिगी की दौड़ दौड़ूँगा।  चाहे क़ाबिज़ जहाँ हो जाऊँ आशियाँना तू होगा,  मकान चाहे जहाँ बनाऊँ मेरा घर तू होगा।  रंग चाहे जहाँ का चढ़ाऊँ मिट्टी मेरी तू होगा,  कल … Continue reading शहर है मेरा भी