कितने बरस बीत गए

तरसती नज़र क्यों आज भी है

रास्ते ही अलग हो गए तो

दिल में क्यों धड़कते आज भी है

खुली किताब हूँ मैं

पर दफन मेरे सीने में कुछ राज़ क्यों है

दरख़्त कबके सूख गए

बाग़ मेंखुशबू क्यों आज भी है

निशां न हो एक भी लेकिन

जख्मों में ‘मुंतशिर’ दर्द आज भी है

Advertisements

Painless arguments

Speaking without thinking

And Arguing painlessly

With you for hours

And finally convincing you

Or getting convinced with you

And reaching a conclusion

That I am correct to an extent

Even when I was completely wrong

Are days I really miss daddy!

Those healthy arguments

can’t everywhere exist

Now that I have grown

And reached to a state

Where I can keep quiet

And let things go

And not argue

even when there is pain overflow

May be you would be happy

To see me grow

Or may be it is you who is creating

Conditions for me to mature

Or may be I still argue with you

In my mind,heart and soul

You still argue and send me answers

From a place where you have gone

Happiness is having

A permanent blessings

From heaven

How many thanks you owe

Happiness is having grown

From a part of you

To almost into you

And may be similar to you!

Happiness

is having painless arguments

With free open minded father

Like you

Happy bday papa!

Happy reading everyone

Yours loving warrior

Naina

माँ तुम बहुत याद आती हो…

आँखों के किनारे पर आ कर यूँ ही ठहर सी जाती हो, माँ तुम बहुत याद आती हो

सुबह का अलार्म और रात की लोरी बन जाती हो , माँ तुम बहुत याद आती हो

सर में दर्द हो तो मरहम और दिल में दर्द हो तो दुआ बन जाती हो, माँ तुम बहुत याद आती हो

नींद ना आने पर सिराहना और बीमार पड़ने पर डॉक्टर बन जाती हो, माँ तुम बहुत याद आती हो

तनहा रहू तो दोस्त, परेशान रहू तो सलाहकार बन जाती हो, माँ तुम बहुत याद आती हो

समझ ना आए तो टीचर और गलती करने पर सब से बचाती हो, माँ तुम बहुत याद आती हो

जादू की तरह एक पल में सब ठीक कर जाती हो, माँ तुम बहुत याद आती हो

क्यों कर दिया मुझे खुद से इतना दूर की आँखे खुलते ही तुम ओझल सी हो जाती हो, माँ तुम बहुत याद आती हो

अब तो बस पलके भीगा कर होठों पर मुस्कान छोड़ जाती हो, माँ ….तुम बहुत याद आती हो….

Add some more lines in this… I don’t have much of words

Thanks & Regards

Virus_miki

कलम से…

एक बेधड़क सी लड़की डर कर जीने लगी

खाना तो क्या साँसे भी पूछ कर लेने लगी

शिखर पर पहुँच कर फिर शून्य पर आ गई

सुनी गलियों को अब वो यूँ ही निहारने लगी

समझ नहीं आ रहा कि उसे ऐसे बंधन में क्यों बाँध दिया

समाज के डर से उसके माता पिता ने उससे उसका बचपन छीन लिया

अपनी इच्छाओं को मार कर आज उसने भी जीना सीख लिया

समय के साथ आज उसने आँसू पीना भी सीख लिया

एक किनारे में बैठ कर घर को याद करना भी सीख लिया

तस्वीरों को देख कर ही मुस्कुराना सीख लिया

आज सोच रही है अगर उसकी माँ, भाभी बहन सब ने यही सहा

फिर क्यों उसे इस कड़वी सच्चाई से रखा क्यों जुदा

दहेज़ की बलि चढ़े या इच्छओं की , मारना तो है ही

क्यों उसे झूठे सपने दिखा कर इस शादी के प्रलोभन में फसा दिया

चुप रहना, कमरे में रहना उसकी फितरत में नहीं था

उसे हसना , बोलना और गुनगुनाना पसन्द था

आज घर की चौखट से पैर बहार नहीं रख सकती वो

जिसे हर रोज़ बहार आना जाना पसंद था

सब का ख़याल रखना सब कहते है , उसके खयाल की किसी को याद नहीं आती

सब की पसंद का ध्यान है उसे पर अपनी पसंद वो किसी को बता नहीं पाती

एक बोलने पर वो सब का कर देती पर उसका सुनने वाला कोई नहीं है

कहती रहती है महीने भर पहले से वो , तब भी उसकी इच्छाएँ पूरी नहीं हो पाती

पति के हिसाब से खुद को बदलो

घर के हिसाब से मन को बदलो

सब की उम्मीदों को पूरा करो

अपनी इच्छाओं को दफ़न करो

सब से मिल कर रहो

धीरे कहो ज़ोर से ना हँसो

बड़ो से बात भी मत करो

शर्म और लिहाज का लबादा ओढ़े रहो

मुस्कुराने का झूठा ढोंग चालू रखो

दूसरों को भी ऐसा करने के लिए प्रेरित करो

Do let me know your views about marriage .

And correct me wherever I am wrong..☺☺☺👍

Thanks & Regards

Virus_miki

रिवाज़…

बिंदास घुमने वाली लड़की आज एक पिन लाने के लिए भी किसी की मोहताज हैं

क्या ऐसा ही तुम्हारा समाज है

शादी नहीं ये एक बेकार सा रिवाज़ है

हर कोई उसके दिल को छल जाता है

और पूरा परिवार जश्न मनाता है

नकली सी मुस्कराहट ले कर उसका मन भी घबराता है

तुम दूसरे घर से आई हो , हर पल इस बात का एहसास दिलाता है

एक आँगन रोता है और उसी पल दूसरा आँगन ख़ुशियाँ मनाता है

ना जाने कैसा रिवाज़ है ये शादी का
जहाँ दो परिवार ना एक होता हैं और ना ही अलग कहलता है

After a long break

Back with this….Many more to say but, unable to collect the words…!!!

Let me know.. what else you can add in this… And correct me if I am wrong…☺☺

Thanks & Regards

Virus_miki

राष्ट्र रक्षा सूत्र…

भारतीय सेना 10 सर्वश्रेष्ठ अनमोल वचन: अवश्य पढें।
इन्हें पढकर सच्चे गर्व की अनुभूति होती है…

1.

मैं तिरंगा फहराकर वापस आऊंगा या फिर तिरंगे में लिपटकर आऊंगा, लेकिन मैं वापस अवश्य आऊंगा।

  • कैप्टन विक्रम बत्रा, परम वीर चक्र

2.

जो आपके लिए जीवनभर का असाधारण रोमांच है, वो हमारी रोजमर्रा की जिंदगी है।

  • लेह-लद्दाख राजमार्ग पर साइनबोर्ड (भारतीय सेना)

3.

यदि अपना शौर्य सिद्ध करने से पूर्व मेरी मृत्यु आ जाए तो ये मेरी कसम है कि मैं मृत्यु को ही मार डालूँगा।

  • कैप्टन मनोज कुमार पाण्डे,परम वीर चक्र, 1/11 गोरखा राइफल्स

4.

हमारा झण्डा इसलिए नहीं फहराता कि हवा चल रही होती है, ये हर उस जवान की आखिरी साँस से फहराता है जो इसकी रक्षा में अपने प्राणों का उत्सर्ग कर देता है।

  • भारतीय सेना

5.

हमें पाने के लिए आपको अवश्य ही अच्छा होना होगा, हमें पकडने के लिए आपको तीव्र होना होगा, किन्तु हमें जीतने के लिए आपको अवश्य ही बच्चा होना होगा।

  • भारतीय सेना

6.

ईश्वर हमारे दुश्मनों पर दया करे, क्योंकि हम तो करेंगे नहीं।”

  • भारतीय सेना

7.

हमारा जीना हमारा संयोग है, हमारा प्यार हमारी पसंद है, हमारा मारना हमारा व्यवसाय है।

  • अॉफीसर्स ट्रेनिंग अकादमी, चेन्नई

8.

यदि कोई व्यक्ति कहे कि उसे मृत्यु का भय नहीं है तो वह या तो झूठ बोल रहा होगा या फिर वो इंडियन आर्मी का  ही होगा।

  • फील्ड मार्शल सैम मानेकशॉ

9.

आतंकवादियों को माफ करना ईश्वर का काम है, लेकिन उनकी ईश्वर से मुलाकात करवाना हमारा काम है।

  • भारतीय सेना
    10.

इसका हमें अफसोस है कि अपने देश को देने के लिए हमारे पास केवल एक ही जीवन है।

  • अॉफीसर प्रेम रामचंदान

।।जयहिंद……

Expressive Insider

One who keeps within

And hardly expresses

One who has different priorities

And shows to the world

as if small things hardly matters

That insider is so Wonderful inside

Those protective walls of his soul

Where inner him he hides

Sometimes honey spills out from

Hidden baskets of his heart

Honey bee me really enjoys this sweetheart

Artfuly though via silent moves he signals a lot

Hey Mr. Insider…

You are expressive and intresting for sure!

Dedicate this my piece of writing to the loveliest insider you know♥️

Happy reading!

Yours loving warrior

Naina

Unplanned chapter and a planned project😁!

She: you were my unplanned chapter..I don’t know how destiny made you enter my life…You entered when there was absolutely no scope for you to enter.🤹

He : Well that was my style!..anyway you were my planned project…..luckily I was successful..But I don’t know why I am stuck to you still..Project already successfully completed!..Ideally I should move ahead now👿

And those two perfectly optimistic and a little confused souls kept wondering what were the destiny’s future plans…entire night ✨ (just to give a dramatic end to the story😄)

♥️

Happy reading

Yours loving warrior

Naina

Perfection

When perfection is no more your desire

When you have started loving imperfections so much

When every hues of you equally shine

When life is better

And not more better you desire

When morning evening and afternoon

Are all equally blissful

When both half empty and half full

Are perspectives equally wonderful

When truth and lies

Hardly exists

When love and just love you persist

When perfectly imperfect spaces

Becomes place you start adjusting better

May be..You have reached perfection my dear!

Happy reading!

Yours loving warrior

Naina